बिज़नेस
नये गलियारों के बनने से बदल जाएगा देश के लॉजिस्टक्स का चेहरा: सुरेश प्रभु
By Swadesh | Publish Date: 22/11/2018 3:43:47 PM
नये गलियारों के बनने से बदल जाएगा देश के लॉजिस्टक्स का चेहरा: सुरेश प्रभु

नई दिल्ली। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि रेल के जरिये माल ढुलाई के लिए जो प्रयास किये जा रहे हैं, आने वाले समय में उनकी बदौलत देश का लॉजिस्टिक्स चेहरा बदल जायेगा। केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरुवार को यहां चार्टर्ड इंस्टीट्यूट ऑफ लॉजिस्टिक्स एंड ट्रांसपोर्ट (सीआईएलटी) द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में कहा कि लॉजिस्टिक्स की सफलता भारत का भविष्य निर्धारित करेगी। उऩ्होंने कहा कि समय और कम लागत आने से किफायती लॉजिस्टिक्स देश में माल ढुलाई सस्ता करने के साथ-साथ समय की भी बचत करेंगे।

सुरेश प्रभु ने कहा कि पहले मालगाड़ी अपने गंतव्य पर कब पहुंचेगी, यह भगवान के भरोसे रहता था, क्योंकि मालगाड़ियों के लिए कोई समय-सारणी नहीं होती थी। गत चार वर्ष की नरेंद्र मोदी सरकार की अगुवाई में इनका परिचालन भी समय-सारणी के आधार पर शुरू किया गया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान केंद्र सरकार द्वारा विशिष्ट माल ढुलाई गलियारे से भारत में लॉजिस्टिक्स क्षेत्र में क्रांति आयेगी । यदि माल के समय पर पहुंचने की गारंटी नहीं होगी तो कोई भी ग्राहक क्यों रेलगाड़ी से अपना सामान भेजेगा ?
 
इस मौके पर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी ने कहा कि माल ढुलाई के लिए पूर्वी और पश्चिमी गलियारे मार्च 2020 तक बनकर तैयार हो जायेंगे। उसके अलावा भविष्य में तीन और गलियारे तैयार करने की योजना है। भविष्य में जिन तीन गलियारों का निर्माण रेलवे द्वारा किया जायेगा, उनमें उत्तर-दक्षिण गलियारा, पूर्व-दक्षिण गलियारा और पूर्व-पश्चिम गलियारा प्रमुख है। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS