बिज़नेस
इनसाइडर ट्रेडिंग नहीं हुई, सेबी ने कोई जवाब नहीं मांगा है: संघवी
By Swadesh | Publish Date: 4/12/2018 12:46:58 PM
इनसाइडर ट्रेडिंग नहीं हुई, सेबी ने कोई जवाब नहीं मांगा है: संघवी

मुंबई। सन फॉर्मास्युटिकल्स लिमिटेड के प्रमोटर दिलीप संघवी ने उस रिपोर्ट को खारिज करते हुए सफाई दी है कि कंपनी में किसी भी प्रकार की इनसाइडर ट्रेडिंग नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि रैनबैक्सी का अधिग्रहण सेबी नियमों के मुताबिक हुआ है और नैटको फॉर्मा शेयरों के खरीद से संबंधित सभी जानकारियां सार्वजनिक की गई हैं। उन्होंने इनसाइडर ट्रेडिंग (अंदरूनी व्यापार) और खराब कॉर्पोरेट शासन के आरोपों से भी इंकार कर दिया। सेबी ने सन फॉर्मा के खिलाफ जांच शुरू करने का निर्देश दिया था, जिसके बाद से कंपनी के शेयरों के दाम लगातार गिर रहे हैं। 

 
बता दें कि बाजार नियामक सेबी की ओर से भारत के सबसे बड़े दवा निर्माता कंपनी और इसके कुछ प्रमोटरों के खिलाफ विभिन्न जांच शुरू की जा सकती है। सेबी की इस कार्रवाई के बाद से शेयर बाजारों में सन फॉर्मा के शेयरों के दाम में 15 से 20 फीसदी तक की गिरावट दर्ज हो चुकी है। कंपनी में प्रोमोटर्स की शेयरहोल्डिंग 54.4 फीसदी है, जबकि संस्थागत निवेशकों की हिस्सेदारी 33.3 फीसदी है। पिछले महीने शेयरों के दाम 550 रुपए प्रति शेयर थे, जो सेबी की जांच की खबर सामने आने से यह 450 रुपए प्रति शेयर तक नीचे गिर गया है। 
 
मंगलवार को इनसाइडर ट्रेडिंग मामले में सन फॉर्मा के एमडी दिलीप संघवी ने सफाई दी। उन्होंने कहा है कि इनसाइडर ट्रेडिंग केस में सेबी ने कंपनी से कोई जवाब नहीं मांगा है। निवेशकों को राहत देने के लिए जल्द ही दवा निर्माता कंपनी की ओऱ से भारत में डिस्ट्रीब्यूटरों को बदलने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा सुरक्षा रियल्टी को कोई लोन या गारंटी नहीं दी गई है। रैनबैक्सी का अधिग्रहण सेबी नियमों के मुताबिक हुआ है और नैटको फार्मा शेयरों के खरीद से संबंधित सभी जानकारियां सार्वजनिक की गई हैं। दिलीप संघवी ने कहा कि फिलहाल सेबी की तरफ से कंपनी के खिलाफ इनसाइडर ट्रेडिंग की जांच दोबारा खोलने के संदर्भ में कोई नोटिस या जानकारी नहीं मिली है। सेबी ने व्हीसिल ब्लोओर की शिकायत को लेकर भी उनसे कोई पूछताछ नहीं की है। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS