बिज़नेस
3 और साढ़े तीन अंकों की उछाल, फिर भी हैसियत में 1.66 लाख करोड़ बढ़ी
By Swadesh | Publish Date: 17/1/2019 12:50:42 PM
3 और साढ़े तीन अंकों की उछाल, फिर भी हैसियत में 1.66 लाख करोड़ बढ़ी

मुंबई। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में बुधवार को सुस्ती छाए रहने के बावजूद मार्केट कैपिटलाइजेशन में 1.66 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई है। बुधवार के कारोबार में सेसेक्स 3 फीसदी से भी कम की बढ़त में कारोबार बंद हुआ था, तो वहीं निफ्टी में 3.5 अंक की ही बढ़ोतरी दर्ज हो पाई थी। हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशकों की ओर से बाजार में निवेश किए जाने के कारण बाजार हैसियत में इजाफा हुआ। बुधवार को बाजार पूंजीकरण 143.79 लाख करोड़ रुपये रहा था, जबकि उससे पिछले कारोबारी दिन यानी मंगलवार को मार्केट कैपिटलाइजेशन 142.13 लाख करोड़ रुपये था। 

 
बता दें कि बीएसई में विदेशी संस्थागत निवेशकों ने बुधवार को जहां 3,864.31 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे, तो वहीं 3,954.41 करोड़ रुपये के शेयर बेचकर मुनाफा भी कमाया। हालांकि घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 3,034.98 करोड रुपये के शेयर खरीदे थे, जबकि 2,730.71 करोड़ रुपये के शेयर बेचकर बाजार में निवेश करने पर जोर दिया। 
 
बुधवार को करेंसी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में कुल 30,651.02 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था। जबकि बाजार के कैश सेगमेंट में कुल 3,047.88 करोड रुपये का टर्नओवर रहा। इस दौरान 2,913 कंपनियों के 11,66,510 सौदे के जरिए कुल 16.84 करोड़ शेयरों का कारोबार हुआ। सेंसेक्स की 1209 स्क्रिप्स में बढ़त रही, जबकि 1375 स्क्रिप्स में कमी आई। इस दौरान 141 स्क्रिप्स में कोई बदलाव नहीं देखा गया। बी ग्रुप की 21 कंपनियों पर अपर सर्किट और 14 कंपनियों पर लोअर सर्किट लगी थी। ग्रुप की कुल 305 कंपनियों में से 147 कंपनियों पर अपर सर्किट और 158 कंपनियों पर लोअर सर्किट लगी। 
 
बता दें कि बीएसई में मंगलवार को विदेशी संस्थागत निवेशकों ने 4,248.73 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे थे, जबकि 4,089.13 करोड़ रुपये के शेयर बेच कर बाजार में निवेश किया था। घरेलू संस्थागत निवेशकों ने भी सतर्क रुख अपनाते हुए 3,712.90 करोड रुपये के शेयर खरीदे, जबकि 3,295.46 करोड़ रुपये के शेयर बेचकर निवेश पर जोर दिया था। बाजार के कैश सेगमेंट में मंगलवार को कुल 2,433.82 करोड रुपये का टर्नओवर रहा था, जबकि करेंसी डेरिवेटिव्स सेगमेंट में भी कुल 26,702.23 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS