ब्रेकिंग न्यूज़
बिज़नेस
जी ग्रुप के शेयरों में 44 महीने की सबसे भारी गिरावट, एस्सेल ग्रुप में अफरा-तफरी बढ़ने के आसार
By Swadesh | Publish Date: 28/1/2019 1:08:55 PM
जी ग्रुप के शेयरों में 44 महीने की सबसे भारी गिरावट, एस्सेल ग्रुप में अफरा-तफरी बढ़ने के आसार

मुंबई। पिछले सप्ताह कारोबारी सुभाष चंद्रा के माफीनामा पत्र के सार्वजनिक होने के बाद से जी एंटरटेनमेंट और डिश टीवी के शेयरों के दाम में भारी गिरावट चल रही है। हालांकि जी लिमिटेड के शेयर्स ने सोमवार को तेज शुरुआत की है, इसमें 9 फीसदी तक की बढ़त देखी जा रही है, जबकि डिश टीवी के शेयर्स में सोमवार को 11.50 फीसदी की गिरावट दर्ज हो चुकी है।

ज़ी एंटरटेनमेंट के स्टॉक में 44 महीने की सबसे भारी गिरावट दर्ज की गई है। हालांकि जी एंटरटेनमेंट ने सफाई देते हुए कहा है कि किसी भी गलत ट्रांजैक्शन से उनका कोई लेना-देना नहीं है। नित्यांक इंफ्रा पावर का एस्सेल ग्रुप से कोई संबंध नहीं है। नोटबंदी से जुड़े सवाल नित्यांक इंफ्रा से पूछे गए थे। एसएफआईओ ने एस्सेल ग्रुप कंपनियों से जुलाई-अगस्त में अपना पक्ष रखने को कहा था।

 
बता दें कि एस्सेल ग्रुप में अफरा-तफरी बढ़ने के आसार से कंपनी के मैनेजमेंट और इंस्टीट्यूशनल इन्वेस्टर्स में घबराहट देखी जा रही है। सुभाष चंद्रा की अगुआई वाले एस्सेल ग्रुप की कंपनियों के भाव में पिछले सप्ताह शुक्रवार को भारी बिकवाली देखी गई। एस्सेल ग्रुप की डेट सिक्योरिटीज में एचडीएफसी म्यूचुअल फंड, आदित्य बिड़ला सन लाइफ म्यूचुअल फंड और आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एसेट मैनेजमेंट सहित 10 से 12 म्यूचुअल फंड्स में 6,500 करोड़ रुपये का निवेश हुआ है। शेयरों में आई गिरावट से एस्सेल ग्रुप के प्रमोटर्स में चिंता देखी जा रही है। हालांकि जी लिमिटेड के शेयर्स आश्चर्यजनक रूप से सोमवार को बाजार शुरू होते ही 31 अंकों की उछाल में चले गए थे। 
 
बता दें कि नोटबंदी के बाद 3,000 करोड़ रुपये की रकम जमा कराने के मामले में एस्सेल ग्रुप और नित्यांक इंफ्रा पावर एंड मल्टीवेंचर्स कंपनी सीरियस फ्रॉड इनवेस्टिवगेशन ऑफिस (एसएफआईओ) की जांच के घेरे में आ गई हैं। इस संदर्भ में जी एंटरटेनमेंट ने सफाई देते हुए कहा है कि किसी भी गलत ट्रांजैक्शन से उनका कोई लेना-देना नहीं है। नित्यांक इंफ्रा पावर का एस्सेल ग्रुप से कोई संबंध नहीं है। नोटबंदी से जुड़े सवाल नित्यांक इंफ्रा से पूछे गए थे।एसएफआईओ ने एस्सेल ग्रुप कंपनियों से जुलाई-अगस्त में अपना पक्ष रखने को कहा था।
 
शुक्रवार को जी एंटरप्राइजेज के शेयर्स 26 फीसदी और डिश टीवी का शेयर्स 33 फीसदी तक की गिरावट में चले गए थे। प्रमोटर्स ग्रुप की एंटिटीज के गिरवी रखे गए शेयरों की बिकवाली होने से दोनों कंपनियों के भाव में भारी गिरावट देखी गई। हालांकि ज़ी और एस्सेल ग्रुप के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने माना है कि कंपनी की माली हालत नाजुक हो रही है। समय पर कर्ज नहीं चुका पाने के लिए उन्होंने माफी भी मांगी है। 
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS