बिज़नेस
सर्फ एक्सल के विज्ञापन का शिकार बना माइक्रोसॉफ्ट एक्सल
By Swadesh | Publish Date: 13/3/2019 12:08:34 PM
सर्फ एक्सल के विज्ञापन का शिकार बना माइक्रोसॉफ्ट एक्सल

नई दिल्ली। डिटर्जेंट पाउडर सर्फ एक्सल अपने होली पर आए नये विज्ञापन को लेकर पिछले कुछ दिनों से विवादों में है। लोग सोशल मीडिया पर सर्फ एक्सल का बहिष्कार करने की बात कर रहे हैं। इस विज्ञापन के विरोध में कुछ लोग गलतफहमी में सर्फ एक्सल के बजाय माइक्रोसॉफ्ट एक्सल को निशाना बना रहे हैं।

 
सर्फ एक्सल के विज्ञापन में यह दिखाने की कोशिश की गई है कि कैसे एक बच्ची अपने मुस्लिम दोस्त को होली के दिन रंगों से बचाते हुए उसे मस्जिद तक पहुंचाती है। इस विज्ञापन के विरोध में लोग गूगल प्ले स्टोर पर माइक्रोसॉफ्ट एक्सल को नेगेटिव रेटिंग देने लगे।
 
एक यूजर ने माइक्रोसॉफ्ट एक्सल के रीव्यू में लिखा कि सर्फ एक्सल का बॉयकॉट किया जाना चाहिए, क्योंकि यह हिन्दू विरोधी है। पाकिस्तान में जाकर बिजनेस कर। एक अन्य यूजर ने लिखा कि मैं एक्सल शब्द देखता हूं तो मुझे यह हिन्दुओं के खिलाफ प्रोपेगेंडा की तरह लगता है। कुछ लोगों ने गूगल प्ले स्टोर पर गलत ऐप को नेगेटिव रेटिंग्स देने वालों के बारे में भी लिखा है। एक और यूजर ने लिखा कि जब आपको सर्फ एक्सल और माइक्रोसॉफ्ट एक्सल में अंतर नहीं पता चलता है, तो ऐसी गलती होती है।
 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी वर्ष 2017 में स्नैपचैट के सीईओ द्वारा भारतीय लोगों पर किए कमेंट पर नाराज लोगों ने स्नैपडील को नेगेटिव रेटिंग्स दी थी।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS