छत्तीसगढ़
छत्तीसगढ़ में खुला देश का पहला गार्बेज कैफे, कचरा दें और खाएं भरपेट भोजन
By Swadesh | Publish Date: 10/10/2019 11:06:47 AM
छत्तीसगढ़ में खुला देश का पहला गार्बेज कैफे, कचरा दें और खाएं भरपेट भोजन

-आधा किलो कचरा लाने पर नाश्ते की व्यवस्था, मंत्री ने किया उद्घाटन
-नाश्ता और खाने में गुणवत्ता का व्यवस्थापक रखें विशेष ध्यान:मंत्री सिंहदेव

रायपुर। प्लास्टिक कचरे के बदले भोजन एवं नाश्ते देने की शुरूआत बुधवार को छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर जिले के प्रतीक्षा बस स्टैंड में 'गार्बेज कैफे' खोलकर की गयी । इस अवसर पर गार्बेज कैफे का फीता काट कर उद्घाटन ग्रामीण विकास मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने किया। मंत्री सिंहदेव ने कहा कि एक किलो प्लास्टिक का कचरा लाने से लोगों को भरपेट खाना मिलेगा।  आधा किलो कचरा लाने पर नाश्ता की व्यवस्था इस गार्बेज केफे में किया गया है। इससे एक ओर जहां प्लास्टिक के कचरों का संकलन होगा वहीं जरूरत मंदों को भोजन और नाश्ता भी मिल पाएगा। इस अवसर पर महापौर डॉ. अजय तिर्की, सभापति शफी अहमद, डिप्टी मेयर अजय अग्रवाल, कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर पुलिस अधीक्षक आशुतोष कुमार सिंह उपस्थित थे।
 

सिंहदेव ने नगर निगम तथा जिला प्रशासन की सराहना करते हुए कहा कि गार्बेज कैफे का यहां बहुत अच्छा इंतजाम किया गया है। उन्होंने कहा कि कचरा लाने वालों दिए जाने वाले नाश्ता और खाने में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें।
 

उल्लेखनीय है कि नगर निगम अम्बिकापुर में देश का पहले गार्बेज कैफे खोला गया है जिसके संचालन हेतु एक निजी व्यवसायी को कार्य दिया है। कचरे का वजन करने तथा टोकन देने की व्यवस्था की गई है। कोई भी व्यक्ति प्लास्टिक का कचरा लाकर वजन करा सकता है तथा वजन के अनुसार उसे भोजन अथवा नाश्ते का टोकन दिया जाएगा। गार्बेज कैफे में डायनिंग हाल बना हुआ है, जहां बैठकर भोजन एवं नाश्ता आराम से कर सकते हैं। टोकन की सुविधा बस स्टैण्ड के समीप स्थित एसएलआरएम सेण्टर में भी मिल सकेगी।
 

मंत्री ने कैफे के भोजन का लिया स्वाद- पंचायत मंत्री सिंहदेव ने गार्बेज केफे में कचरा जमा करने वाले लोगों से खाने की गुणवत्ता की पूछताछ करते हुए उन्होंने भोजन का स्वाद लिया और उसे उत्तम गुणवत्ता का बताया। उन्होंने अधिकारियों को खाने की गुणवत्ता को इसी प्रकार कायम रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि, आज सिंगल यूज प्लास्टिक के निपटान की समस्या विकराल रूप ले चुकी है ।

बस स्टैण्ट चौकी में पदस्थ आरक्षक अजय विश्वकर्मा, श्रीमती हीरामणी श्रीमती रूपनी तथा श्रीमती फुलेश्वरी के द्वारा 1-1 किलो प्लास्टिक का कचरा जमा कराकर गार्बेज कैफे में भरपेट भोजन किया गया । इस दौरान मंत्री सिंहदेव ने विशुनपुर में 50 लाख रूपये की लागत से निर्मित सामुदायिक भवन का भी लोकार्पण किया। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी कुलदीप शर्मा सहित अन्य जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS