ब्रेकिंग न्यूज़
मध्य प्रदेश
भारी बारिश बनी आफत, सतना में मकान ढहने से मां-बेटे की मौत
By Swadesh | Publish Date: 28/9/2019 3:08:14 PM
भारी बारिश बनी आफत, सतना में मकान ढहने से मां-बेटे की मौत

-बालाघाट में बाइक समेत नाले में बहने से आरक्षक समेत 3 की मौत
-बारिश और बाढ़ की आपदा में कुल पांच लोगों की गई जान
 
भोपाल/सतना/बालाघाट। मध्यप्रदेश में बने मानसूनी सिस्टम के चलते यहां लगातार हो रही भारी बारिश हो गई है जो लोगों के लिए जानलेवा साबित हो रही है। शुक्रवार को देर रात से शनिवार को सुबह तक सतना और बालाघाट जिले में दो अलग-अलग घटनाओं में भारी बारिश के चलते पांच लोगों की मौत हो गई। पहली घटना सतना जिले नादन देहात थाना क्षेत्र में हुई, जहां शनिवार को तड़के एक मकान ढहने से मां-बेटे की मौत हो गई। दूसरी घटना बालाघाट जिले के लालबर्रा थाना क्षेत्र में शुक्रवार को देर हुई जहां उफान पर आए नाले में एक आरक्षक समेत तीन लोग बाइक समेत बह गए, जिससे उनकी मौत हो गई। इस तरह बारिश और बाढ़ की आपदा से कुल पांच लोगों की जान चली गई। इन सभी मामलों की पुलिस जांच कर रही है।
 
मध्यप्रदेश में लगातार झमाझम बारिश हो रही है। शनिवार को भोपाल समेत प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में जोरदार बारिश हुई, जिससे नदी नाले उफान पर आ गए। राज्य के कई गांवों का शहरी क्षेत्रों से सम्पर्क टूट गया है। जानकारी के मुताबिक सतना जिले के नादन देहात थाना अंतर्गत ग्राम झाली में बीती रात से लगातार हो रही तेज बारिश के कारण शनिवार को तड़के करीब चार बजे एक कच्चा मकान भरभराकर गिर गया।
 
इस हादसे में मकान में रहने वाले 50 वर्षीय इंद्रभान पटेल और उनकी बुजुर्ग मां 70 वर्षीय रनिया पटेल की मलबे में दबने से मौत हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और पंचनामा बनाकर दोनों मृतकों के शव पोस्टमार्टम के लिए मैहर के सिविल अस्पताल पहुंचाया। पुलिस के अनुसार, मकान ढहने से मां-बेटे के अलावा एक गाय की भी मौत हुई है। पुलिस ने मामले को जांच में लिया है।
 
बालाघाट जिले के लालबर्रा थाना क्षेत्र में शुक्रवार को सुबह से देर रात हुई भारी बारिश से नदी-नाले उफान पर चल रहे हैं, जिससे कई गांवों का शहरों से सम्पर्क टूटा हुआ है। लालबर्रा पुलिस के अनुसार किंदरई थाना क्षेत्र के गांव मवई निवासी सुमत भगदरिया और श्याम लाल धुर्वे शुक्रवार की रात लालबर्रा थाने में पदस्थ आरक्षक निहाल सहारे के साथ मोटरसाइकिल से घंसौर से किंदरई जा रहे थे। रात करीब 11 बजे गोकला नाला उफान पर था। उन्होंने उफनते नाले को पार करने के प्रयास किया।
 
इस दौरान बाइक का संतुलन बिगड़ गया और वे बाइक के साथ नाले में बह गए। जानकारी मिलने पर पुलिस ने उनकी तलाश शुरू की। राहत दल भी मौके पर पहुंच गया। शनिवार को सुबह राहत दलों ने तीनों के शव बरामद कर लिये और पोस्टमार्टम के लिए धंसौर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेश खरपुसे ने बताया कि पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।
COPYRIGHT @ 2018 SWADESH. ALL RIGHT RESERVED.DESIGN & DEVELOPED BY: 4C PLUS